जनसंचार विभाग मे गूगल न्यूज़ इन्तिएटीव ऑफ़ डाटा वेरिफिकेशन पर कार्यशाला का आयोजन

Dec 22, 2022,8:53 am

चौधरी रणबीर सिंह विश्विधालय मे जनसंचार विभाग मे गूगल न्यूज़ इन्तिएटीव ऑफ़ डाटा वेरिफिकेशन पर कार्यशाला का आयोजन किया गया जिसमे गुरु जम्बेश्वर विश्विधालय के जनसंचार विभाग के डीन प्रोफ उमेश आर्य ने शिरकत की और उन्हें बच्चों को सोशल मीडिया पर फैलने वाली अफवाओं से बचने के गुर सिखाए उन्हें बच्चों को सम्बोधित करते हुए की आज यहाँ पर कई विभागों से विध्यार्थी मजूद है और यह कार्यशाला सिर्फ जर्नलिज्म विभाग के लिए नही बल्कि सभी लोगों के लिए अनिवार्य है इस कार्यशाला का सिलेबस भी विश्व के 20 टेक्नोलॉजी विशेष्यज्ञ ने मिलकर बनाया है और इस सिलेबस को बनाने का विषय यह था की किस प्रकार साधारण तौर पर सोशल मीडिया पर फैलने वाली अफवाओं को रोका और समझा जा सकता है आज हम सभी लोग चार्रों तरफ से डाटा से घिरे हुए हैं और हमे यह पता नही होता की हमारे लिए कौन सी सुचना सही है या नही उन्होंने कहा प्रत्रकारिता की फील्ड मे एक गलत सुचना कई लोगों की जिन्दगी खराब कर सकती है आज संचार के एक अर्थ को महत्व दिया जाता है और वो है स्पष्टता को संचार मे बरकरार रखने का दयित्ब हम सभी का है ताकि कोई गलत सुचना न फैले हमे डाटा के साथ बर्ताव कैसे करना है आज डाटा के अनुरूप बहुत चीजें आती है जैसे फोटो, विडियो , चीजें आती है जैसे फोटो, विदोए , चीजें आती है जैसे बैनर, चीजे आती है जैसे बैनर फोटो विडियो आदि आज के यह सीखना जरूरी है पहले हमे यह पता होना चाहिए की यह डाटा हमारे लिए क्यों और कितना जरूरी है और फिर हमे उस सुचना को प्राप्त करना चाहिए आज के समय मे कई कंपनी अपने प्रोडक्ट को बेचने के लिये रिसर्च भी स्पोंसर करती है और वह उत्पाद की बिक्री मे बहुत बड़े स्तर पर भूमिका निभाती है पर इन्होने बच्चों को अपने डाटा को सुरक्षित रखने और उसे सेव करने के टोल भी बताए जिसमे आप दौ लाख से अधिक फाइलों को सुरक्षित रख सकते और अपने कार्य को आसानी के साथ कर सकते है उन्होंने बच्चों को डाटा को गंभीर रूप से समझने के लिए कहा और उन्होंने कहा जब भी कुछ लिखें या विडियो बनाए तो उसका विश्लेषण करें उन्होने कहा की पहले डाटा के बारे मे जानना चाहिए और फिर उससे प्राप्त करना चाहिए और फिर जांचना चाहिए और फिर उससे सुचना के रूप मे बनाकर आगे भेजना चाहिए जनसंचार विभाग के विभागाध्यक्ष प्रोफ एस. के. सिन्हा ने कहा की आज  हमारा जीवन इंटरनेट तक सीमित रह गया मोबाइल और लैपटॉप पर हमें अनगिनत सूचना देखने को मिलती हैं और और हमें यह जान पाना मुश्किल होता है कि कौन सी सूचना गलत है और कौन सी सही है आज इसी को लेकर चौधरी रणबीर सिंह विश्वविद्यालय के जनसंचार विभाग  में इस कार्यशाला का आयोजन किया गया ताकि हमारा आने वाला समाज सूचनाओं का विश्लेषण कर सके और जान सके कि कौन सी सूचना महत्वपूर्ण है और डाटा का संकलन करने के बारे में  कार्यशाला  में बताया गया और ऐसी कार्यशाला जनसंचार के विद्यार्थियों के लिए जरूरी है विभाग में करवाई जाएंगी कार्यशाला में विद्यार्थी और शिक्षक मौजूद रहे